May 28, 2022
ias promotion

IAS Promotions – IAS का प्रमोशन किस किस पद तक होता है?

IAS Promotions – IAS का प्रमोशन किस किस पद तक होता है? : आईएएस बनना इस देश के कई लोगों का सपना है. और अपने इस सपने को पूरा करने के लिए वे दिन रात एक कर देते हैं. यूपीएससी को इस देश की सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक माना गया है, और इसे पास करने में एक उम्मीदवार को बहुत संघर्ष करने पड़ते हैं. पर जब यह सपना पूरा हो जाता है, तो आप सातवें आसमान में होते हैं. ऐसा नहीं है की यह परीक्षा पास करना बहुत ही ज़्यादा कठिन है. अगर आप अपनी सूझ-बूझ और समझदारी के साथ इस परीक्षा की तैयारी करें तो आप क्या कुछ हासिल नहीं कर सकते.

यह बहुत ही ज़्यादा महत्वपूर्ण है की आप जिस चीज़ की तैयारी कर रहे हों आपको उसके बारे में सारी जानकारियां हों, ताकि यदि आपसे इंटरव्यू में यह सवाल पूछ लिया जाए तो आपको इसका अच्छा ज्ञान हो और आपकी छवि रिक्रूटमेंट बोर्ड के सामने अच्छी बने. इस पोस्ट के माध्यम से हम आप तक आईएएस की प्रमोशन लिस्ट लेकर आये हैं. आप लिए बहुत ही ज़्यादा महत्वपूर्ण है यह जानना की जिस परीक्षा की आप तैयारी करके इतना आगे बढ़ चुके हिन् अब उसके आगे क्या होगा. तो आइये पोस्ट को अंत तक पढ़ें और सारी सम्बंधित जानकारियां हासिल करें.

IAS Promotions – IAS का प्रमोशन किस किस पद तक होता है?

यह तो सभी जानते हैं की जब एक उम्मीदवार परीक्षा के तीनो राउंड पास कर लेता है और एक आईएएस अधिकारी होने के लिए उपयुक्त समझा जाता है, उसका चयन किया जाएगा और उसे कॉल किया जाता है. उनका पहला और सबसे महत्वपूर्ण कदम लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासन अकादमी में प्रशिक्षण है. दो साल के लंबे प्रशिक्षण के पहले महीने में उम्मीदवारों को कोई वेतन नहीं दिया जाएगा. और उन्हें फाउंडेशन कोर्स से गुजरना पड़ता है, जो सभी सिविल सेवाओं के लिए एक ही है.

फाउंडेशन कोर्स पूरा होने पर छात्रों को पहले ट्रेनिंग फेज से गुजरना होता है. प्रशिक्षण से छात्र यह समझने में सक्षम होंगे कि एक आईएएस अधिकारी को कैसे काम करना है, सटीक कर्तव्य क्या हैं, और उन्हें दिन-प्रतिदिन की भागीदारी और कार्य प्रक्रिया को समझने में मदद मिलेगी. प्रशिक्षण के बाद, उन्हें पूरे देश में उभरती सामाजिक-आर्थिक और राजनीतिक प्रवृत्तियों को समझने में सक्षम होना चाहिए.

IAS का प्रमोशन किस किस पद तक होता है?

प्रशिक्षण के अंत में, यदि उम्मीदवार फिट लगते हैं, तो उन्हें उनके संवर्ग के संबंध में परिवीक्षा में भेजा जाएगा. कुल मिलाकर, अब तक 24 कैडर हैं. परिवीक्षा समय कुछ वर्षों के लिए हो सकता है और वे सरकार की मूल बातें सीखने के लिए एक सरकारी विभाग का हिस्सा होंगे. यह जांचने के लिए एक परीक्षा आयोजित की जाएगी कि परिवीक्षा अवधि सफल रही या नहीं.

IAS Promotions की सम्पूर्ण लिस्ट उनकी अवधि के साथ

पद के वर्ष सेवा
1-4 वर्ष एएसपी/एसडीएम/सहायक आयुक्त
5-8 वर्ष एडीएम/उप सचिव/अवर सचिव
9-12 वर्ष डीएम/संयुक्त सचिव/उप सचिव
13-16 वर्ष डीएम/विशेष सचिव सह निदेशक/निदेशक
16-24 वर्ष संभागीय आयुक्त/सचिव सह आयुक्त/संयुक्त सचिव
25-30 वर्ष मंडलायुक्त/प्रधान सचिव/अपर सचिव
30-33 वर्ष अपर मुख्य सचिव
34-36 वर्ष मुख्य सचिव
37+ वर्ष भारत के कैबिनेट सचिव

IAS Promotions के नियम क्या क्या हैं?

कुछ प्रमुख नियम या दिशानिर्देश हैं:

प्रत्येक पद के लिए स्क्रीनिंग समितियों का गठन किया जाता है, और उन्हें यह सुनिश्चित करना होता है कि पदोन्नति के लिए उचित और उद्देश्यपूर्ण तरीके से उम्मीदवार की उपयुक्तता पर विचार किया जाए
समिति को हर साल रिक्तियों को भरना होता है, और इस प्रकार समिति को हर साल एक निश्चित तिथि पर बार-बार मिलना होता है. पहले से एक समय सारिणी निर्धारित की जाती है और राज्य सरकार को समिति के उचित कामकाज को सुनिश्चित किया जाता है
रिक्तियों की संख्या पूर्व निर्धारित और सटीक होनी चाहिए. मृत्यु या सेवानिवृत्ति के कारण रिक्तियों को ध्यान में रखा जाना चाहिए जबकि व्यक्तिगत अवकाश या अवकाश के लिए अल्पकालिक रिक्तियों को ध्यान में नहीं रखा जाना चाहिए
भारत के राष्ट्रपति की सूची हिंदी में  यहां क्लिक करें
उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्रियों की सूची यहां क्लिक करें
भारत के प्रधानमंत्रियों की सूची हिंदी में यहां क्लिक करें
अलंकार किसे कहते हैं? अलंकार की परिभाषा, भेद, उदाहरण यहां क्लिक करें

हम उम्मीद करते हैं इस पोस्ट में उपलब्ध कराई गयी जानकारी से आपको बहुत ज़्यादा मदद मिली होगी. यदि आप आईएएस से सम्बंधित और जानकारियां हासिल करना चाहते हैं तो हमनें अपने सुझाव ज़रूर भेजें, और यदि आपको पोस्ट अच्छी लगी हो तो हमें फीडबैक के द्वारा ज़रूर बताएं.

IAS Promotions से सम्बंधित प्रश्न

1. क्या एसडीएम डीएम बन सकता है?
उत्तर : डीएम या जिला मजिस्ट्रेट को जिला कलेक्टर के रूप में भी जाना जाता है. एक डीएम भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) में एक अधिकारी रैंक है. एसडीएम के पद पर 5 से 6 वर्ष की सेवा के बाद एसडीएम को डीएम के पद पर पदोन्नत किया जाता है. जिले के भीतर कई जिम्मेदारियों के लिए एक डीएम जिम्मेदार होता है.
2. भारत में एक आईएएस अधिकारी का सर्वोच्च पद कौन सा है?
उत्तर : सर्वोच्च पद पाने वाला आईएएस अधिकारी कैबिनेट सचिव का होता है. वह आम तौर पर देश में वरिष्ठतम आईएएस है.
3. आईएएस अधिकारी की इन हैंड सैलरी कितनी होती है?
उत्तर : एक आईएएस अधिकारी का इन-हैंड वेतन मूल 56,100 प्लस टीए, डीए, एचआरए और यात्रा भत्ता है.
4. भारत में सर्वोच्च रैंक का आईएएस अधिकारी कितना कमाता है?
उत्तर : कैबिनेट सचिव को 2-2.5 लाख रूपये प्रति माह की सीमा में वेतन मिल सकता है जो भारत में किसी भी सिविल सेवक के लिए सबसे अधिक है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.