October 25, 2021
hindi varnmala

Hindi Varnamala (Aksharmala) क से ज्ञ तक हिंदी वर्णमाला में स्वर, व्यंजन, संयुक्त स्वर

Hindi Varnamala : Aksharmala क से ज्ञ तक हिंदी वर्णमाला में स्वर, व्यंजन, संयुक्त स्वर, Hindi varnamala : हिंदी वर्णमाला सीखें, hindi varnmala (Hindi Alphabet), हिंदी अक्षरमाला सीखें, learn hindi varnmala and aksharmala, वर्णमाला क्या है, download varnmala pdf, हिंदी में स्वर किसे कहते हैं, hindi alphabets, व्यंजन क्या हैं, how many varn are there in hindi varnmala, संयुक्त स्वर क्या हैं, hindi varnmala swar aur vyanjan, हिंदी वर्णमाला अक्षरमाला पीडीऍफ़ डाउनलोड करें, hindi varnmala tutorials, हिंदी वर्णमाला स्वर और व्यंजन, hindi varnmala download, हिंदी भाषा में कितने वर्ण होते हैं, hindi varnmala chart, संयुक्त स्वर की परिभाषा, learn hindi varnmala easy tips.

 

यदि आप हिंदी वर्णमाला सीखना चाहते हैं, तो यह लेख आपके लिए पूर्ण रूप से सही है| इस लेख के माध्यम से हम आपको हिंदी वर्णमाला सीखने में मदद करेंगे| आपको बता दें की इस वर्णमाला में हमने आपको तीनो – स्वर, व्यंजन, संयुक्त स्वर अलग अलग टेबल में बताएं हैं| यह लेख आपको इन तीनों का अंतर वा मतलब बताएगा| हिंदी हमारी राष्ट्रभाषा है, और दुनिया में सबसे अधिक बोले जाने वाली भाषाओँ में तीसरे नंबर पर है| इसीसलिए इस भाषा का ज्ञान होना हम सभी के लिए महत्व्पूर्ण है|

Hindi Varnamala – Aksharmala हिंदी वर्णमाला में स्वर, व्यंजन, संयुक्त स्वर

यदि आप एक शिक्षक हैं या फिर शिष्य हैं, और यदि आप हिंदी वर्णमाला सीखना चाहते हैं, तो इस पृष्ठ को अंत तक पढ़ें| इस पृष्ठ के माध्यम से हमने आपको आसान तरह से विभाजन करके वर्णमाला सीखने में मदद की है| यह तो सभी जानते हैं की हिंदी भाषा की सबसे छोटी इकाई ध्वनि है, और इसी ध्वनि को वर्ण कहते हैं| इन वर्णों को व्यवस्थित करने के समूह को वर्णमाला कहते हैं।

हिंदी में उच्चारण के आधार पर वैसे तो 45 वर्ण होते हैं, जिनमें 10 स्वर और 35 व्यंजन होते हैं। लेकिन लेखन के आधार पर 52 वर्ण होते हैं जिनमें 13 स्वर, 35 व्यंजन तथा 4 संयुक्त व्यंजन होते हैं। तो आइये जानते हैं स्वर क्या होते हैं, व्यंजन क्या होते हैं, संयुक्त स्वर क्या होते हैं|

हिंदी वर्णमाला में स्वर क्या है?

स्वर वह वर्ण हैं, जिनके उच्चारण में किसी दूसरे वर्ण की आवश्यकता नहीं होती है|

ये वर्ण अपने आप में स्वतंत्र रूप से बोले जाते है |

स्वर तीन प्रकार के होते हैं –

  1. ह्रस्व स्वर
  2. दीर्घ स्वर
  3. प्लुत स्वर

इनमें ह्रस्व स्वर वे हैं जिन्हे बोलने में कम समय लगता है, जैसे – अ, इ, उ आदि|

दीर्घ स्वर वे हैं जिन्हे बोलने में अधिक समय लगता है जैसे – आ, ई, ऊ आदि|

और प्लुत स्वर वे हैं जिन्हे बोलने में सबसे अधिकतम समय लगता है, जैसे – ओउम्|

वर्ण  उपयोग
अनार
आम
इमली
ईख
उल्लू
ऊन
एड़ी
ऐनक
ओखली
औरत
अं अंगूर
अ: अहा
ऋषि

हिंदी वर्णमाला में व्यंजन क्या है?

व्यंजन वह वर्ण हैं, जिनके उच्चारण में स्वरों का इस्तेमाल होता हैं मतलब ये वह वर्ण होते हैं जो स्वरों की सहायता से मांगे जाते हैं| इसलिए हर व्यंजन को बोलने में अ का इस्तेमाल किया जाता हैं| हिंदी वर्णमाला में कुल 35 व्यंजन होते हैं| यह व्यंजन तीन प्रकार के होते हैं जैसे – स्पर्श व्यंजन, अंतः स्थ व्यंजन, उष्म व्यंजन|

स्पर्श व्यंजन : यह वह व्यंजन होते हैं जिन्हे बोलने में जीभ मुँह के किसी भाग को छूती है| ये व्यंजन क से म तक होते हैं| इसके पांच प्रकार हैं –

कवर्ग : क , ख , ग , घ , ङ
चवर्ग : च , छ , ज , झ , ञ
टवर्ग : ट , ठ , ड , ढ , ण
तवर्ग : त , थ , द , ध , न
पवर्ग : प , फ , ब , भ , म

अन्तःस्थ व्यंजन : यह वह व्यंजन होते हैं जो जीभ, तालु, दन्त, ओष्ठ के स्पर्श से होते है किन्तु ये अंग कहीं भी एक-दूसरे का पूर्ण स्पर्श नहीं करते। जैसे – य, र, ल, व।

उष्म व्यंजन : ये वह व्यंजन होते हैं जो बोलते समय उष्म पैदा करते हैं, और इन्हे बोलते समय मुँह से गर्म हवा निकलती है, जैसे – श , ष , स , ह|

क से ज्ञ तक (Ka Se Gya Tak)

कबूतर
खरगोश
गमला
घड़ा
चम्मच
छतरी
जग
झरना
टमाटर
ठोस
डमरू
ढपली
तोता
थर्मस
दवाई
धनुष
नल
पंख
फल
बस्ता
भालू
मछली
योग  वन
रस्सी
लड्डू
लड्डू
शीशा
षट्कोण
सांप
हल
क्ष क्षणिक
ज्ञ ज्ञान

1 से 100 तक गिनती

हम उम्मीद करते हैं की यह हिंदी वर्णमाला आपको आसानी से वर्णों क ज्ञान लेने में मदद करेगी| किसी भी प्रकार के प्रश्नों के लिए आप हमे कमेंट बॉक्स के ज़रिये संपर्क कर सकते हैं|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *